Filmy Duniya

Raksha Bandhan Movie Review : जाने अक्षय कुमार की फिल्म रक्षाबंधन के बारे मे ?

Introdustion :-

तो नमस्कार दोस्तो । Raksha Bandhan Movie Review : जाने अक्षय कुमार की फिल्म रक्षाबंधन के बारे मे आज की हमारी यह पोस्ट आपको जानकारी देगी अक्षय कुमार की फिल्म रक्षाबंधन के बारे मे बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता अक्षय कुमार की नयी फिल्म रक्षाबंधन सिनेमा घरो मे खूब तारीफे बटोर रही है । इस फिल्म मे भाई का अपनी बहनो के प्रति अटूट प्यार ओर विस्वास दिखाया गया है । ओर भी बहुत सी जानकारी के लिए आइये हमारी पोस्ट Raksha Bandhan Movie Review : जाने अक्षय कुमार की फिल्म रक्षाबंधन के बारे मे, को शुरू करते है ।

अक्षय कुमार के बारे मे :-

अक्षय कुमार जिनका असली नाम राजीव हरिओम भाटिया है, एक मशहूर फिल्म अभिनेता होने के साथ साथ वे निर्माता और मार्शल आर्टस में भी पारंगत हैं। प्यार से लोग उन्हें ‘अक्की’ भी कहते हैं। अक्षय कुमार ने 125 से ऊपर फिल्मों में काम किया है। उन्हें कई बार उनकी फिल्मों के लिए फिल्मफेयर अवार्डस में नामांकित किया गया है जिसमें से दो बार उन्होंने यह पुरस्कार जीता हैै। हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में वह लंबे समय से काम कर रहे हैं और अपने अनुशासित स्वभाव और दिनचर्या के लिए भी जाने जाते हैं। ‘खिलाडि़यों के खिलाड़ी’ नाम से मशहूर अक्षय अपनी फिल्मों में ज्यादातर स्टंट स्वयं ही करते हैं। बॉलीवुड के सबसे फिट अभिनेताओं के नाम में अक्षय कुमार की गिनती जरूर की जाती है।

Raksha Bandhan Movie Review
Raksha Bandhan Movie Review

Raksha Bandhan Movie Review :-  

अक्षय कुमार की ‘रक्षा बंधन (Raksha Bandhan)’ रिलीज हो गई है. फिल्म में अक्षय कुमार (Akshay Kumar) और भूमि पेडनेकर लीड रोल में हैं. फिल्म को आनंद एल राय ने डायरेक्ट किया है. रक्षा बंधन के मौके पर रिलीज हुई अक्षय कुमार की फिल्म कई मायनों में 1980 के दशक की यादें ताजा कर देती है. फिल्म का टोन शुरू से लेकर आखिर तक काफी इमोशनल रहता है और एक भाई की बहनों की शादी और दहेज के लिए जद्दोजहद को दिखाया गया है. एक बार फिर उस दौर को सिनेमा में लाने की कोशिश की गई है, जो कहीं पीछे छूट चुका था. लेकिन अक्षय कुमार की पूरी मेहनत के बावजूद डायरेक्टर और राइटर फिल्म में कुछ भी नया पिरो पाने में नाकाम रहते हैं.

आगे बढ़े —

रक्षा बंधन (Raksha Bandhan Review) की कहानी अक्षय कुमार की है. वह चाट की दुकान चलाता है और उसकी दुकान को लेकर एक भ्रांति भी फैली हुई है. उसकी चार बहनें हैं और उनकी शादी भी करनी है. शादी करनी है तो दहेज भी देना है. लेकिन जिस तरह से इन बहनों को फिल्म में पेश किया गया है, वह बहुत ही अटपटा लगता है. जिस तरह से उनकी शक्ल-सूरत-काया को लेकर मजाक बनाया जाता है, वह बिल्कुल भी हंसाता नहीं है, बल्कि दुखद है. बेशक राइटर्स ने दहेज जैसे अहम मुद्दे को उठाने की कोशिश की है, लेकिन कमजोर राइटिंग की वजह से वह फिल्म के संदेश को सार्थक तरीके से पेश नहीं कर पाते हैं. फिर कहानी में बहुत ही ज्यादा मेलोड्रामा है. सेकंड हाफ में फिल्म एंटरटेनमेंट कम और फिल्म उपदेशात्मक ज्यादा होती चली जाती है. कुल मिलाकर डायरेक्टर भी विषय पर पकड़ कायम रख पाने में चूक जाते हैं

Raksha Bandhan Movie Review
Raksha Bandhan Movie Review

यह भी पढे —

Lal Singh Chaddha Movie Ka Hua Boycott : जाने पूरी खबर लाल सिंह चड्ढा का क्या हुआ 

जिस तरह के सशक्त वूमन कैरेक्टर आनंद एल राय दिखाते हैं, उस तरह के रक्षा बंधन (Raksha Bandhan Movie Review) में मिसिंग हैं. लड़कियों को लेकर कुछ स्टीरियोटाइप चीजें भी, कहीं-कहीं बहुत ज्यादा चुभती हैं. पूरी फिल्म ऐसी लगती है कि बहनों के लिए होने के बावजूद, सिर्फ अक्षय कुमार के इर्द-गिर्द ही बुनी गई है. हालांकि अक्षय कुमार अपनी जिम्मेदारी को पूरी तरह निभाते भी हैं. लेकिन डायरेक्टर इस जिम्मेदारी को निभाने में नाकाम रहते हैं. इस तरह एक अच्छे इरादे से बनाई गई फिल्म कमजोर कहानी और ट्रीटमेंट की वजह से उस तरह का इम्पैक्ट नहीं डाल पाती है, जैसी उम्मीद थी और फिल्म कुल मिलाकर रटी-रटाई परिपाटी पर ही दौड़ती है.

तो

पोस्ट को ध्यान से पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद , उम्मीद करते हमारी पोस्ट आपको पसंद आई होगी , ऐसी ही पोस्ट हम आपके लिए लेकर आते रहंगे ।

धन्यवाद 

Related Articles

One Comment

  1. I was very happy to discover this website. I want to to thank you for your time due to this fantastic read!! I definitely liked every little bit of it and i also have you book marked to check out new things on your blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button